डबल एक्सएल पर फ़र्स्टपोस्ट से बातचीत में अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा का मानना है कि बॉडी शेमिंग की शुरुआत घर से होती है। सोनाक्षी स्वस्थ शरीर की छवि पेश करने के लिए जानी जाती हैं। उन्हें अपने बचपन का वो समय याद है जब उनकी माँ उन्हें लगातार वजन कम करने के लिए कह रही थी।

लेकिन वह उन माताओं को दोष नहीं देती जो अपनी बेटियों का वजन कम करना चाहती हैं। वह मानती है कि जब वे छोटे थे तो शायद वे भी उसी दबाव से गुज़रे थे और हो सकता है कि उनके माता-पिता भी उन्हें यही बात बता रहे हों। उन्होंने कहा कि हर इंसान को सपने देखने का अधिकार है और दुनिया बेहतर होगी अगर लोग एक-दूसरे के प्रति दयालु व्यवहार करें।

सिन्हा ने अपने साक्षात्कार में स्पष्ट किया कि वह मोटापे को बढ़ावा नहीं देती हैं, और न ही यह फ़िल्म का मकसद था। हालांकि, वह महसूस करती हैं कि लोगों के लिए यह बताना सही नहीं है कि दूसरे कैसे दिखते हैं, चाहेवेकिसआकारकेहों, वेकिसरंगकेहोंऔरकितनीऊंचाईकेहों, वेजैसेहैं, काफ़ीअच्छेहैं।